वैदिक गणित का संक्षिप्त इतिहास

by ,
ISBN: 9789386221728
Subject Category:
Estimated Delivery Time: 7 to 10 days delivery

₹495

Binding

Paperback

YOP

2018

Pages

172

Print
वैदिक-गणित केवल गणित ही नहीं है, बाल्कि एक संस्कृतिक धरोहर है | इसे सजो कर रखना हम भारतीयों का पावन कर्तव्य बनता है | इस रचना का मुख्य उददेश्य है-प्राचीन भारत की बौद्धिक-सम्पदा (खासकर, गणितीय खगोल शास्त्र की) को प्रकाश में लाना | पुस्तक में कुछ ऐसे तथ्यों को भी उजाग़र किया गया है जिस पैर मतैव्य नहीं है | इस पुस्तक में भारतीय गणतिज्ञों की बहुमूल्य देने को संक्षेप में प्रस्तुत किया गया है | वैदिक-गणित के संबंध में विद्वानो ने बीय अनेक प्रकार की भ्रान्तियां है | इसके साथ-साथ, कुछ मह्त्वपूर्ण प्राचीन भारत की गणितीय बौद्धिक-सम्पदा को पश्चातय इतिहासकारो ने पश्चातय की देन कहा है | इस प्रकार की धारणा का निष्करण केवल वैदिक गणित का इतिहास ही कर सकता है |

Topics Covered

  • वैदिक-गणित
  • वैदिक-युग में गणित
  • संख्याओं का नाम
    (क) वेद संख्याओं का नाम
    (ख) श्रीमद्वाल्मीकिय रामायण में संख्याओ का नाम
    (ग) बौद्ध-साहित्य में संख्याओ का नाम
    (घ) जैन-साहित्य में संख्याओ का नाम
  • महाभारत में π का मान
  • ब्रह्माण्ड पुराण में π का मान
  • बह्माण्ड की उत्पत्ति के संबंध में
  • वैदिक साहित्य में वर्णित गणित के कुछ विषय
  • शुल्व-सुत्रा
  • वक्षाली पाण्डु-लिपि
  • आर्यभट-1
  • बराहमिहिर
  • भास्कर -1
  • ब्रह्मगुप्त
  • श्रीधराचार्य
  • जैन-गणित
  • महावीराचार्य
  • बटेश्वर
  • भास्कराचार्य-2
  • माध्वाचार्य
  • परमेश्वर
  • नारायण पंडित
  • नीलकण्ठ सोमायजी
  • चित्रभानु
  • शंकर वालिर
  • कुछ साध्यो के पाश्चात्य नाम का वैदिक नामकरण
  • प्रमुख वैदिक गणिज्ञ
  • रचना-काल
  • वैदिक गणित से संबंधित साहित्य
  • प्रमुख वैदिक गणतिज्ञो की रचना
  • इन्हो ने कहा है
Leave Comment

Be the first to review “वैदिक गणित का संक्षिप्त इतिहास”

clear formSubmit

Reviews

There are no reviews yet.